Paryayvachi Shabd (पर्यायवाची शब्द) Synonyms in Hindi, समानार्थी शब्द

ऐसे शब्द जिनके अर्थ समान हों, पर्यायवाची (Synonyms) शब्द कहलाते हैं।

‘पर्याय’ का अर्थ है- ‘समान’ तथा ‘वाची’ का अर्थ है- ‘बोले जाने वाले’ अर्थात जिन शब्दों का अर्थ एक जैसा होता है, उन्हें ‘पर्यायवाची शब्द’ कहते हैं। इसे हम ऐसे भी कह सकते है- जिन शब्दों के अर्थ में समानता हो, उन्हें ‘पर्यायवाची शब्द’ कहते है।

दूसरे अर्थ में- समान अर्थवाले शब्दों को ‘पर्यायवाची शब्द’ या समानार्थक भी कहते है। जैसे- सूर्य, दिनकर, दिवाकर, रवि, भास्कर, भानु, दिनेश- इन सभी शब्दों का अर्थ है ‘सूरज’ ।
इस प्रकार ये सभी शब्द ‘सूरज’ के पर्यायवाची शब्द कहलायेंगे।

Hindi के Paryayvachi Shabd – Hindi Paryayvachi Shabd

पर्यायवाची शब्द को ‘प्रतिशब्द’ भी कहते है। अर्थ की दृष्टि से शब्दों के अनेक रूप है; जैसे- पर्यायवाची शब्द, युग्म शब्द, एकार्थक शब्द, विपरीतार्थक शब्द, समोच्चरितप्राय शब्द इत्यादि।
किसी भी समृद्ध भाषा में पर्यायवाची शब्दों की अधिकता रहती है। जो भाषा जितनी ही सम्पत्र होगी, उसमें पर्यायवाची शब्दों की संख्या उतनी ही अधिक होगी। संस्कृत में इनकी अधिकता है। हिन्दी के पर्यायवाची शब्द संस्कृत के तत्सम शब्द है, जिन्हें हिन्दी भाषा ने ज्यों-का-त्यों ग्रहण कर लिया है।

Paryayvachi Shabd

More than 10 Paryayvachi Shabd in Hindi

शब्द –  पर्यायवाची शब्द

(अ)

अहंकार – दंभ, गर्व, अभिमान, दर्प, मद, घमंड, मान।
अहंकारी – गर्वित, अकडू, मगरूर, अकड़बाज, गर्वीला, आत्माभिमानी, ठस्सेबाज, घमंडी।
अतिथि – मेहमान, अभ्यागत, आगन्तुक, पाहूना।
अर्थ – धन्, द्रव्य, मुद्रा, दौलत, वित्त, पैसा।
अश्व – हय, तुरंग, घोड़ा, घोटक, हरि, तुरग, वाजि, सैन्धव।
अंधकार – तम, तिमिर, तमिस्र, अँधेरा, तमस, अंधियारा।
अंग – अंश, अवयव, हिस्सा, संघटक, घटक, उपादान, खंड, भाग, टुकड़ा, शरीर, तन, देह, गात, गात्र।
अभिमान – अस्मिता, अहं, अहंकार, अहंभाव, अहम्मन्यता, आत्मश्लाघा, गर्व, घमंड, दर्प, दंभ, मद, मान, मिथ्याभिमान।
अरण्य – जंगल, वन, कानन, अटवी, कान्तार, विपिन।
अनी – कटक, दल, सेना, फौज, चमू, अनीकिनी।
अनादर – अपमान, अवज्ञा, अवहेलना, अवमानना, परिभव, तिरस्कार।
अंकुश – नियंत्रण, पाबंदी, रोक, अंकुसी, दबाव, गजांकुश, हाथी को नियंत्रित करने की कील, नियंत्रित करने या रोकने का तरीका।
अंजाम – नतीजा, परिणाम, फल।
अंत – समाप्ति, अवसान, इति, इतिश्री, समापन।
अंतर – भिन्नता, असमानता, भेद, फर्क।
अंतरिक्ष – खगोल, नभमंडल, गगनमंडल, आकाशमंडल।
अंतर्धान – गायब, लुप्त, ओझल, अदृश्य।
अंदर – भीतर, आंतरिक, अंदरूनी, अभ्यंतर।
अजनबी – अनजान, अपरिचित, नावाकिफ।
अजीब – अदभुत, अनोखा, विचित्र, विलक्षण।
अटल – अविचल, अडिग, स्थिर, अचल।
अड़ंगा – बाधा, रुकावट, विघ्न, व्यवधान।
अतीत – भूतकाल, विगत, गत, भूत।
अत्याचारी – जालिम, आततायी, नृशंस, बर्बर।
अदालत – कचहरी, न्यायालय, दंडालय।
अधीन – मातहत, आश्रित, पराश्रित, परवश, परतंत्र।
अधीर – आतुर, धैर्यहीन, व्यग्र, बेकरार, उतावला।
अध्ययन – पठन-पाठन, पढ़ना, पढ़ाई, पठन।
अनपढ़ – निरक्षर, अशिक्षित, अपढ़।
अनमोल – अमूल्य, बहुमूल्य, बेशकीमती।
अनाज – अन्न, गल्ला, नाज, खाद्यान्न।
अनाड़ी – अकुशल, अनभिज्ञ, अपटु।
अनाथ – तीम, लावारिस, बेसहारा, अनाश्रित।
अनिवार्य – अत्यावश्यक, अपरिहार्य, अवश्यंभावी, परमावश्यक।
अनुज – छोटा भाई, अनुभ्राता, अवरज, कनिष्ठ।
अनुभवी – तजुर्बेकार, जानकार, अनुभवप्राप्त।
अनुमति – इजाजत, सहमति, स्वीकृति, अनुमोदन।
अनुरोध – विनय, विनती, आग्रह, प्रार्थना।
अनूठा – अदभुत, अनोखा, विलक्षण, अपूर्व।
अन्न – अनाज, गल्ला, नाज, दाना।
अपराधी – गुनहगार, कसूरवार, मुलजिम।
अपवित्र – अशुद्ध, नापाक, अस्वच्छ, दूषित।
अफवाह – गप्प, किंवदंती, जनश्रुति, जनप्रवाद।
अभद्र – असभ्य, अविनीत, अकुलीन, अशिष्ट।
अभिनंदन – स्वागत, सत्कार, आवभगत, अभिवादन।
अमन – शांति, सुकून, सुख-चैन, अमन-चैन।
अमर – चिरंजीवी, अनश्वर, अजर-अमर।
अमीर – धनी, मालदार, रईस, दौलतमंद, धनवान।
अर्चना – आराधना, पूजा, पूजन, अर्चन।
अलि – भौंरा, मधुकर, भ्रमर, भृंग, मिलिंद, मधुप, अलिंद।
असत्य – झूठ, मिथ्या, मृषा, अवास्तविक, काल्पनिक, बनावटी, जाली, कृत्रिम, कृतक खोटा, असत।
असभ्य – गँवार, असंस्कृत, अशिष्ट, अभद्र, अविनीत, दुःशील, कुशील, अकुलीन, हीनाचार, असौम्य, अननुग्रही, उजड्ड।

( आ )

आँख – लोचन, अक्षि, नैन, अम्बक, नयन, नेत्र, चक्षु, दृग, विलोचन, दृष्टि, अक्षि।
आकाश – नभ, गगन, द्यौ, तारापथ, पुष्कर, अभ्र, अम्बर, व्योम, अनन्त, आसमान, अंतरिक्ष, शून्य, अर्श।
आनंद – हर्ष, सुख, आमोद, मोद, प्रसन्नता, आह्राद, प्रमोद, उल्लास।
आश्रम – कुटी, स्तर, विहार, मठ, संघ, अखाड़ा ।
आम – रसाल, आम्र, अतिसौरभ, मादक, अमृतफल, चूत, सहकार, च्युत (आम का पेड़), सहुकार।
आंसू – नेत्रजल, नयनजल, चक्षुजल, अश्रु।
आत्मा – जीव, देव, चैतन्य, चेतनतत्तव, अंतःकरण।
आँगन – अँगना, अजिरा, चौक, सहन, सेहन, अहाता, प्रांगण।
आँधी – तूफान, बवंडर, झंझावत, अंधड़।
आईना – दर्पण, आरसी, शीशा।
आकाश – आसमान, नभ, गगन, व्योम, फलक।
आक्रोश – क्रोध, रोष, कोप, रिष, खीझ।
आखेटक – शिकारी, बहेलिया, अहेरी, लुब्धक, व्याध।
आगंतुक – मेहमान, अतिथि, अभ्यागत।
आग – पावक, अनल, अग्नि, दव, हुताशन, रोहिताश्व, उष्मा, ताप, तपन, जलन, आतिश, पांचजन्य, ज्वाला, दावानल, दावाग्नि, बाड़व, वहि।
आचरण – चाल-चलन, बर्ताव, व्यवहार, चरित्र।
आचार्य – शिक्षक, अध्यापक, प्राध्यापक, गुरु।
आजादी – स्वाधीनता, स्वतंत्रता, मुक्ति।
आजीविका – व्यवसाय, रोजी-रोटी, वृत्ति, धंधा।
आज्ञा – हुक्म, फरमान, आदेश।
आतिथ्य – मेहमानदारी, मेजबानी, मेहमाननवाजी, खातिरदारी।
आत्मा – रूह, जीवात्मा, जीव, अंतरात्मा।
आदत – स्वभाव, प्रकृति, प्रवृत्ति।
आदमी – मानव, मनुष्य, मनुज, मानुष, इंसान।
आनन – चेहरा, मुखड़ा, मुँह, मुखमंडल, मुख।
आबंटन – विभाजन, वितरण, बाँट, वंटन।
आबरू – सम्मान, प्रतिष्ठा, इज्जत।
आयु – उम्र,वय, जीवनकाल।
आयुष्मान – दीर्घायु, दीर्घजीवी, चिरंजीवी, चिरायु।
आरंभ – श्रीगणेश, शुभारंभ, प्रारंभ, शुरुआत, समारंभ, शुरू, सूत्रपात, शिलान्यास, उपक्रम, इब्तदा, आगाज, बिस्मिल्ला, आविर्भाव, पादुर्भाव, उदय, उत्पत्ति, जन्म, अथ, आदि।
आरसी – दर्पण, आईना, मुकुर, शीशा।
आवास – निवास-स्थान, घर, निलय, निकेत, निवास।
आवेदन – प्रार्थना, याचना, निवेदन।
आशीर्वाद – शुभकामना, आशीष, आशिष, शुभवचन, आर्शीवचन, धन्यवाद, दुआ।
आँकना – अंदाजना, अनुमान करना, अंदाजा लगाना, निरखना, समझना, कूतना, आकलन करना, प्राक्कलन।
आतंक – संत्रास, अतिभय, दहशत, होहल्ला, भगदड़, कोलाहल, उपद्रव, हुड़दंग।
आत्मत्याग – आत्मपरित्याग, आत्मनिरोध, आत्मनियम, स्वार्थत्याग, इच्छा दमन, स्वार्थहोम, मन को मारना।
आत्मदर्शन – आत्मपरीक्षण, अंतरावलोकन, अंतर्निरीक्षण, अंतर्दर्शन, अंतर्दृष्टि।
आत्मसंयम – आत्मनियंत्रण, आत्मनिग्रह, इंद्रियसंयम, जितेन्द्र।
आत्मसात करना – आत्मीकरण करना, सम्मिलित कर लेना, मिला देना।
आदरणीय – मान्य, माननीय, सम्मानीय, पूजनीय, पूज्य, श्रद्धास्पद, श्रद्धेय, पूज्यपाद।
आदरवचन – स्तुतिवाक्य, स्तुतिवचन, प्रशंसोक्ति, विनयोक्ति।
आदर्श – दर्पण, शीशा, आईना, प्रतिमान, प्रतिरूप, मानक, नमूना।
आदि – प्रथम, पहला, आरंभिक, आरंभ, शुरुआत, इत्यादि, वगैरह, मूलकारण, बुनियाद, ईश्वर, परमात्मा।
आदी होना – आसक्त होना, लिप्त होना, अभ्यस्त होना, लत डालना, लत लगाना।
आदेश – आज्ञा, हुक्म, फरमान, अध्यादेश, निर्देश, अनुदेश, हिदायत।
आदेशात्मक – आज्ञा सम्बन्धी, अधिदेशी, अधिदेश विषयक, नियोजनीय।
आधा – अर्द्ध, अर्धांश, अद्धा।
आधार – नींव, जड़, मूल, बुनियाद, मानदंड, मापदंड, कसौटी, आधारशिला, आधार स्तंभ, मूल तत्व, मूल कारण, सहारा, आश्रय, अवलंब।
आधारहीन – निराधार, अमूल, निर्मूल, निराश्रय, भित्तिशून्य, बेबूनियाद, अवास्तविक, अवास्तव, मिथ्या, बेअसल, सरासर गलत।
आधुनिक – अर्वाचीन, अप्राचीन, वर्तमान, नूतन, नूतनकालीन, वर्तमानकालीन, आजकल का।
आनंद – उल्लास, आह्लाद, हर्ष, मोद, प्रमोद, लुफ़्त, मजा, सुख।
आनंददायक – परिहासपूर्ण, हास्यात्मक, प्रमोदपूर्ण, विनोदात्मक, रसिक, आनंदी, आनंदकर, दिलचस्प, रसदायक।
आना – आगमन होना, पदार्पण करना, प्रवेश करना, पधारना, शुभागमन, तशरीफ लाना, आ धमकना, आ टपकना, उपस्थित होना, हाजिर होना।
आनाकानी – उपेक्षा, अनसुनी, कतराना, टालना, बहाना करना, बचाना, जी चुराना।
आपत्ति- दुःख, क्लेश, विपत्ति, आफत, आपात, आपदा, विपदा, संकट, मुसीबत, वज्रपात, विघ्न, दोषारोपण।
आभासी – प्रतीपमान, आभासमान, भासित, प्रकाशित, बोधगम्य, द्युतिमान।
आभूषण – अलंकरण, अलंकार, भूषण, आभरण, जेवर, गहना।

( इ )

इन्द्र – सुरेश, अमरपति, वज्रधर, वज्री, शचीश, वासव, वृषा, सुरेन्द्र, देवेन्द्र, सुरपति, शक्र, पुरंदर, देवराज, महेन्द्र, मधवा, शचीपति, मेघवाहन, पुरुहूत, यासव।
इंद्र का पुत्र – जयंत, उपेन्द्र, ऐंद्रि।
इंद्र का वज्र – कुलिश, वज्र, पवि, अशनि, भिदुर, भेदी शतकोटि।
इंद्र का हाथी – अभ्रमातंग, गजेन्द्र, ऐरावत।
इंद्रधनुष – इन्द्रायुध, शक्रधनु, ऋजुरोहित।
इंद्रपुरी – अमरावती, देवपुरी, इंद्रलोक, देवलोक।
इन्द्राणि – इन्द्रवधू, मधवानी, शची, शतावरी, पोलोमी।
इच्छा – अभिलाषा, अभिप्राय, चाह, कामना, ईप्सा, स्पृहा, ईहा, वांछा, लिप्सा, लालसा, मनोरथ, आकांक्षा, अभीष्ट।
इंतकाल – देहांत, निधन, मृत्यु, अंतकाल।
इंदु – चाँद, चंद्रमा, चंदा, शशि, राकेश, मयंक, महताब।
इंसान – मनुष्य, आदमी, मानव, मानुष।
इंसाफ – न्याय, फैसला, अद्ल।
इजाजत – स्वीकृति, मंजूरी, अनुमति।
इज्जत – मान, प्रतिष्ठा, आदर, आबरू।
इनाम – पुरस्कार, पारितोषिक, पारितोषित करना, बख्शीश।
इकट्ठा – समवेत, संयुक्त, समन्वित, एकत्र, संचित, संकलित, संग्रहीत।
इकट्ठा करना – सम्मिलित करना, समवेत करना, संयुक्त करना, मिलाना, जोड़ना, एक जुट करना, कोषबद्ध करना, संचित करना, जमा करना, बचाना, संकलित करना, संग्रहीत करना, एकत्र करना, ढेर लगाना।
इकरार – संविदा, नियमपत्र, करार, सट्टा, ठेका, पट्टा, वायदा, कौल, करार, प्रतिज्ञा।
इकरार करना – संविदा करना, पट्टा लिखना, अनुबंध लिखना, ठेका करना, इकरारनामा लिखना, सट्टा लिखना, करार करना।
इच्छुक – अभिलाषी, आतुर, चाहने वाला, आकांक्षी।
इठलाना – चोंचले करना, नखरे करना, इतराना, ऐंठना, हाव-भाव दिखाना, शान दिखाना, शेखी, मदांध मारना, तड़क-भड़क दिखाना, अकड़ना, मटकाना, चमकाना।
इतिहास – इतिवृत, प्रचीनकथा, पुरावृत्त, पूर्ववृत्तांत, पुराण, पूर्वकथा, अतीत कथा, पूर्ववृत।
इत्यादि – आदि, प्रभृति, वगरैह।
इनकार – अस्वीकृति, निषेध, अनंगीकरण, नकार, खंडन, प्रत्याख्यान, निवर्तन, प्रत्याख्या, अनंगीकार, अस्वीकार।
इमली – अम्लिका, चिंचा।
इरादा – निश्चय, संकल्प, विचार, अभिप्राय, प्रयोजन, आशय, उद्देश्य, हेतु, मंशा, नियत।
इर्द-गिर्द – मंडलाकार मार्ग में, चक्करदार रास्ते पर, घेरे में, चतुर्दिक, चारों दिशाओं में।
इशारा – संकेत, इंगित, लक्ष्य, निर्देश।
इशारे करना – संकेत करना, इंगित करना, मौन संभाषण करना, आँखों से भाव प्रकट करना।
इष्ट – वांछनीय, इंच्छित, अभीष्ट, मनोवांछित, इच्छायोग्य, श्रेय, मनोनुकूल, आराध्य, पूज्य पूजित।
इसलिए – अतः, अतएव, परिणामतः, फलतः, तदनुसार, तदनुरूप, इस कारण, इस वास्ते, उसके मुताबिक।
इलजाम – आरोप, लांछन, दोषारोपण, अभियोग।

( ई )

ईश्वर – परमपिता, परमात्मा, प्रभु, ईश, जगदीश, भगवान, परमेश्वर, जगदीश्वर, विधाता।
ईख – गन्ना, ऊख, इक्षु।
ईप्सा – इच्छा, ख्वाहिश, कामना, अभिलाषा।
ईमानदारी – सच्चा, सत्यपरायण, नेकनीयत, यथार्थता, सत्यता, निश्छलता, दयानतदारी, सत्यनिष्ठ।
ईर्ष्या – विद्वेष, जलन, कुढ़न, ढाह।
ईसा – यीशु, ईसामसीह, मसीहा।
ईमानदार – सच्चा, नेकनीयत, दयानतदार, शुद्धमति, निश्छल, निष्कपट, सत्यनिष्ठ, सत्यपरायण, सदाशय, ऋजु।
ईर्ष्यालु – ईर्ष्यायुक्त, स्पृहाशील, स्पृहालु, डाहीद्वेषी, विद्वेषी।
ईहा – मनोकामना, अभिलाषा, इच्छा, आकांक्षा, कामना।

( उ )

उपवन – बाग़, बगीचा, उद्यान, वाटिका, पुष्पोद्यान, फुलवारी, पुष्पवाटिका, गुलिस्तान, चमन, गुलशन।
उक्ति – कथन, वचन, सूक्ति।
उग्र – प्रचण्ड, उत्कट, तेज, महादेव, तीव्र, विकट।
उचित – ठीक, मुनासिब, वाज़िब, समुचित, युक्तिसंगत, न्यायसंगत, तर्कसंगत, योग्य।
उच्छृंखल – उद्दंड, अक्खड़, आवारा, अंडबंड, निरकुंश, मनमर्जी, स्वेच्छाचारी।
उजड्ड – अशिष्ट, असभ्य, गँवार, जंगली, देहाती, उद्दंड, निरकुंश।
उजला – उज्ज्वल, श्वेत, सफ़ेद, धवल।
उजाड – जंगल, बियावान, वन।
उजाला – प्रकाश, रोशनी, दीप्ति, द्योत, प्रभा, विभा, आलोक, तेज, ओज, चाँदनी।
उत्कष – समृद्धि, उन्नति, प्रगति, प्रशंसा, बढ़ती, उठान।
उत्कृष्ट – उत्तम, उन्नत, श्रेष्ठ, अच्छा, बढ़िया, उम्दा।
उत्कोच – घूस, रिश्वत।
उत्पत्ति – उद्गम, पैदाइश, जन्म, उद्भव, सृष्टि, आविर्भाव, व्युत्पति, प्रादुर्भाव, शुरू, आरंभ, शुरुआत, प्रारंभ, उदय।
उद्धार – मुक्ति, छुटकारा, निस्तार, त्राण, परित्राण, विमुक्ति, बचाव, मोक्षण, रिहाई।
उपाय – युक्ति, साधन, तरकीब, तदबीर, यत्न, चेष्टा, कोशिश, तरीका, उपचार, विधि, जुगत, ढंग, पद्धति, प्रयत्न।
उज्र – ऐतराज, विरोध, आपत्ति।
उत्थान – उत्कर्ष, प्रगति, उत्क्रमण, आरोह, आरोहण, ऊर्ध्वगमन, उद्गमन, उपरिगमन, चढ़ाव, उठाव, उभार, उन्नयन।
उत्साह – उमंग, जोश, हौसला, जोश-खरोश, उबाल, उद्यम, अध्यवसाय, उछाह।
उदार – फ़राख़दिल, क्षीरनिधि, दरियादिल, सरल, सीधा, विनीत, शिष्ट, उदारचित्त, उदारचेता, सहृदय, विशाल, हृदय, सज्जन, महामना, सदाशय, महाशय, दाता, उदारशील, दानशील, दानी।
उदारता – सहृदयता, दयालुता, दानशीलता, दरियादिल, फ़राख़दिल, विशालहृदयता।
उदाहरण – मिसाल, नजीर, दृष्टान्त, कथा-प्रसंग, नमूना, दृष्टांत।
उद्दंड – ढीठ, अशिष्ट, बेअदब, गुस्ताख़।
उद्देश्य – लक्ष्य, प्रयोजन, ध्येय, साधन, इष्ट, निर्मित, नीयत, मंशा, हेतु, अभीष्ट, तात्पर्य, मतलब, अभिप्राय, प्रयोजन, अर्थ, मकसद।
उद्यान – बगीचा, बाग, वाटिका, उपवन।
उन्नति – प्रगति, तरक्की, विकास, उत्थान, बढ़ती, अभिवृद्धि, उदय, अभ्युदय, प्रवर्द्धन, प्रसार, श्रीवृद्धि, उरूज, बढ़ोत्तरी, वृद्धि, समृद्धि, चढ़ाव। उत्कर्ष।
उपकार – भेंट, नजराना, भलाई, नेकी, उद्धार, अच्छाई, परोपकार, कल्याण, अहसान, आभार, तोहफा।
उपहास – परिहास, मजाक, खिल्ली।
उपानह – खड़ाऊँ, पनही, पादुका, पदत्राण।
उमा – गौरी, गौरा, गिरिजा, पार्वती, शिवा, शैलजा, अपर्णा।
उम्मीद – आशा, आस, भरोसा।
उर – हृदय, दिल, वक्षस्थल।
उरग – सर्प, साँप, नाग, फणी, फणधर, मणिधर, भुजंग।
उल्लू – उल्लू, चुगद, खूसट, कौशिक, लक्ष्मी, वाहन, मूर्ख, बेवकूफ, घुग्घू।
उषा – सुबह, भोर, भिनसार, अलस्सुबह, ब्रह्ममुहूर्त।
उष्णीष – मुंड़ासा, पगड़ी, साफा, पाग, मुरेठा।
उकताना – चिढ़ना, खीझना, ऊबना, घबराना, उकता जान, बाज आना, आजिज आना, चिढ़ाना,, खिजाना, घबरा देना, तंग करना, परेशान करना, खोपड़ी खाना।
उकसाना – उत्तेजित करना, जोश दिखाना, भड़काना, उभारना, प्रेरित करना, उत्प्रेरित करना।
उगना – उत्पन्न होना, निकलना, फूटना, उपजना, पैदा होना, अँकुराना, बढ़ना, अँकुरित होना।
उचटना – उखड़ना, टूटना , बिचलना, बिखरना, खिन्न होना, उचाट होना, बिचलित होना, उदास होना।
उजाड़ – वीरान, सुनसान, वियाबान, गिरा पड़ा, टूटा-फूटा, ध्वस्त।
उड़ान – उड्डयन, उत्पतन।
उतार – अवरोहण, अवरोहन, अधोगमन।
उतारना – नीचे लाना, नीचे रखना, पार पहुंचाना, पार लगाना।
उतावला – जल्दबाज, हड़बड़िया, व्यग्र, व्याकुल, आतुर, अधीर, अशांत, असहिष्णु, अतिउत्सुक।
उतावलापन – अधीरता, व्यग्रता, व्याकुलता, अधैर्य, उत्सुकता, अशांति, आतुरता, जल्दबाजी।
उत्कंठा – लालसा, चाव, उत्सुकता, औत्सुक्य, चाह, आकुलेच्छा, प्रबलेच्छा।
उत्कंठित – उन्मन, अभिलषित, इच्छित, अभीच्छित, वांछित, प्रेच्छित।
उत्तम – श्रेष्ठ, उत्कृष्ट, प्रकृष्ट, विशिष्ट, ललित, रुचिर, चारू, कांत, पवित्र, शोभायुक्त, शोभित, मनोरम, मंजु, सुदेश, श्रेष्ठ, सुहावन, सुन्दर, रुचिकर।
उत्तर – प्रत्युत्तर, जवाब्र, पिछला, बाद का, पीछे, उदीची, वामवर्ती।
उत्तेजित – उत्साहित, प्रोत्साहित, प्रेरित, जोश में, उद्दीपित।
उत्पात – उपद्रव, बखेड़ा, हुल्लड़, दंगा- फ़साद, हंगामा, टंटा, ऊधम, अशुभ, अमंगल, विघ्न।
उत्सव – समारोह, जश्न, त्योहार, पर्व, मंगलकार्य, जलसा, आनंद।
उथल – पुथल- क्रांति, विप्लव, परिवर्तन, इन्कलाब, हेर-फेर, रद्दोबदल।
उदारता – सहृदयता, दयालुता, दानशीलता, दरियादिली, फराखदिली, विशालहृदयता।
उदास – अन्यमनस्क, विमनस्क, म्लान, अनमना, खिन्न, उचाट, निरुत्साहित, विरक्त, गमगीन, उद्विग्न, म्लान, खिन्न, चिंताकुल।
उदासी – विषाद, म्लानता, खिन्नता, उद्वेग, अवसाद, ग्लानि, नैराश्य।
उदासीनता – अनमना, उदास, विमुख, विरक्ति, विराग, तटस्थ, निष्पक्ष।
उद्गम – मूल, उद्भव, निकास, आरंभ, उत्पत्ति, स्रोत, जन्म।
उद्घाटन – विगोपन, अनावृत्ति, समारंभ, श्रीगणेश, अभिमुखीकरण।
उद्धारक – तारक, उद्धारकर्त्ता, मोक्षदाता, मुक्तिदाता।
उद्यम – उद्योग, यत्न, प्रयत्न, प्रयास, कोशिश, मेहनत, श्रम, परिश्रम, पुरुषार्थ, अध्यवसाय, व्यवसाय, व्यापार, उद्योग धंधा।
उद्यमी – कर्मठ, क्रियाशील, यत्नशील, उद्योगशील, उद्योगी, परिश्रमी, मेहनती, अध्यवसायी, कर्मठ।
उद्योगी – श्रमजीवी, सक्रिय, कार्यवाहक, कार्यकारी, कर्मकारी, कार्यशील, पुरुषार्थी।
उधार – ऋण, कर्ज।
उन्नतशील – आरोही, उदीयमान।
उन्माद – पागलपन, विक्षिप्त, सनक, जुनून, दीवानापन, खब्त।
उपकरण – वैज्ञानिक, यंत्रादि, यंत्र, उपस्कर, सामान, औजार।
उपचार – चिकित्सा, इलाज, उपाय।
उपचारिका – परिचारिका, चारिका, सेविका।
उपज – शस्य, कृषिफल, पैदावार, फसल, संग्रहीत शस्य, नवोन्मेष, सूझ।
उपजाऊ – उर्वर, उर्वरा, जरखेज, फ़लप्रद।
उपदेश – शिक्षा, सीख, नसीहत, दीक्षा, गुरुमंत्र।
उपमा – समानता, तुलना, साम्य, सादृश्य।
उपयुक्त – अनुकूल, माकूल, मुनासिब, युक्तिसंगत, योग्य।
उपयोग – प्रयोग, व्यवहार, प्रयोजन, उपभोग, काम में लाना, काम लेना, बरतना, इस्तेमाल।
उपयोगिता – लाभकारिता, लाभप्रदता, लाभदायकता, अर्थकरता, हितकरता, उपयुक्तता, उपादेयता।
उपयोगी – उपादेय, कारगर, कार्यसाधक, उपयुक्त, व्यावहारिक, काम का, फायदेमंद, सुविधाजनक, लाभप्रद, लाभदायक, फ़लप्रद, हितकर।
उपवास – लंघन, निराहार, व्रत, फाका।
उपस्थित – विद्यमान, प्रस्तुत, मौजूद, हाजिर, वर्तमान समुपस्थित।
उपहार – भेंट, तोहफा, सौगात, पुरस्कार, नजराना, नजर।
उपासना – सेवा, परिचर्या, आराधना, चिंतन, पूजन, ध्यान, अर्जन, अर्चना, भक्ति।
उपेक्षा – उदासीनता, लापरवाही, विरक्ति, अनादर, तिरस्कार, अवहेलना, अवज्ञा, अवमानना, निरादर, अपमान।
उपेक्षा करना – ध्यान न देना, सुनी अनसुनी कर देना, दृष्टि फेर लेना, मुँह मोड़ लेना, अवज्ञा करना, अनादर करना, अपमान करना, उदासीनता दिखाना, उपहास करना, अवहेलना करना।
उफनना – खौलना, उबलना, गरमा जाना, उफान आना, उबाल आना, जोश में आना।
उमर – उम्र, वय, अवस्था, आयु, जीवनकाल, वयस।
उम्मीदवार – प्रत्याशी, आकांक्षी, आशा करने वाला, प्रार्थी, अभ्यर्थी, परीक्षार्थी, अभिलाषी।
उलझन – दुविधा, अनिश्चय, असमंजस, पेंच, गाँठ, फँसाव, भँवरजाल, जंजाल, चक्कर।
उलझाना – दुविधा में डालना, असमंजस में डालना, भ्रमित करना, भ्रम में डालना, विभ्रम करना, विस्मित करना, जटिल बनाना, दुरुह बनाना, कठिन बनाना, मुश्किल बनाना, लिपटाना, फँसाना।
उलटा – विपरीत, प्रतिकूल, विरुद्ध, खिलाफ, औंधा।
उल्लंघन – विरोध, अवमानना, उपेक्षा, तिरस्कार, अतिक्रमण।
उल्लास – हर्ष, आनंद, आहलाद, परमानंद, अत्यानंद, प्रमोद, रंगरेली, ख़ुशी।
उल्लेख करना – चर्चा करना, वर्णन करना, जिक्र करना, बयान करना, कहना।
उस्तादी – दक्षता, कुशलता, निपुणता, प्रवीणता, होशियारी।

( ऊ )

ऊँचा – तुंग, उच्च, बुलंद, उर्ध्व, उत्ताल, उन्नत, ऊपर, शीर्षस्थ, उच्च कोटि का, बढ़िया, अच्छा, चोटी का, गगनस्पर्शी।
ऊँचाई – बुलंदी, उठान, उच्चता, तुंगता, बुलन्दी।
ऊँचा करना- उन्नत करना, उत्थित करना, ऊपर उठाना।
ऊँट – करभ, उष्ट्र, लंबोष्ठ, साँड़िया।
ऊखल – ओखली, उलूखल, कूँडी।
ऊसर – अनुपजाऊ, बंजर, अनुर्वर, वंध्या, भूमि।
ऊधम – उपद्रव, उत्पात, धूम, हुल्लड़, हुड़दंग, धमाचौकड़ी।
ऊँघ – तंद्रा, अर्द्ध-निद्रा, झपकी, ऊँघाई।
ऊँघना – झपकी लेना, तंद्रिल होना, तंद्राभिभूत होना, अलसाना, सुस्त पड़ना, पलक मारना, निद्रालु होना, अर्द्धनिद्रित होना, औंघाना, झपकी।
ऊधम – उत्पात, उपद्रव, दंगा, फ़साद, हुल्लड़, हंगामा, होहल्ला, धमाचौकड़ी।
ऊल – जलूल- अव्यवस्थित, बेढंगा, बेतुका, बेमेल, अक्रमिक, अविचारित, अस्तव्यस्त।
उषाकाल – प्रातः काल, सवेरा, तड़का, अरुणोदय, प्रभात, प्रातः, उदयकाल, सुबह, अमृतबेला, सूर्योदय।
ऊष्मा – तपन, गर्मी, ताप, जलन।

( ऋ )

ऋक्ष – भालू, रीछ, भीलूक, भल्लाट, भल्लूक।
ऋक्षेश – चंद्रमा, चंदा, चाँद, शशि, राकेश, कलाधर, निशानाथ।
ऋण – कर्ज, कर्जा, उधार, उधारी।
ऋणी – कर्जदार, देनदार।
ऋतु – रुत, मौसम, मासिक धर्म, रज:स्राव।
ऋतुराज – बहार, मधुमास, वसंत, ऋतुपति, मधुऋतु।
ऋषभ – वृष, वृषभ, बैल, पुंगव, बलीवर्द, गोनाथ।
ऋषि – साधु, महात्मा, मुनि, मनीषी, योगी, मन्त्र द्रष्टा, सूक्तद्रष्टा, तपस्वी।
ऋष्यकेतु – कामदेव, मकरकेतु, मकरध्वज, मदन, मनोज, मन्मथ।

( ए )

एकतंत्र – राजतंत्र, एकछत्र, तानाशाही, अधिनायकतंत्र।
एकदंत – गणेश, गजानन, विनायक, लंबोदर, विघ्नेश, वक्रतुंड।
एतबार – विश्वास, यकीन, भरोसा।
एषणा – इच्छा, आकांक्षा, कामना, अभिलाषा, हसरत।
एहसान – कृपा, अनुग्रह, उपकार।
एक करना – एकीकरण करना, सम्मिलित करना, मिलाना, जोड़ना, संघटित करना, संगठन बनाना।
एकता – मेल, मेलजोल, मेलमिलाप, संगठन, संघ, समानता, बराबरी, सामंजस्य, समन्वय, एकरूपता, एकसूत्रता, एकत्व, संश्रय, सद्भाव, सुमति।
एकरूप – समरूप, तुल्यरूप, अभिन्न, अनुरूप, समानता, सादृश्य, अभेद।
एकांत – निर्जन, सूना, शांत, शून्य, सुनसान, अकेला, एकाकी, तनहा, वीरान, विथावान।
एकांतप्रेमी – एकांतिक, एकांतप्रिय, लज्जालु, लज्जाशील, संकोची, शर्मीला।
एकांतवास – निर्जनवास, गुप्तावास, विजनवास।
एकाग्रता – दत्तचित्तता, लगन शीलता, तन्मयता, तल्लीनता।

( ऐ )

ऐंठ – कड़, दंभ, हेकड़ी, ठसक।
ऐबी – बुरा, खोटा, दुष्ट, अवगुण, गलती, त्रुटि, खामी, खराबी, कमी, अवगुण।
ऐयार – धूर्त, मक्कार, चालाक।
ऐहिक – सांसारिक, लौकिक, दुनियावी।
ऐक्य – एकत्व, एका, एकता, मेल।
ऐश्वर्य – धन-सम्पत्ति, विभूति, वैभव, समृद्धि, सम्पन्नता, ऋद्धि-सिद्धि।
ऐंठन – ऐंठ, मरोड़, बल, तनाव, अकड़, गर्व, घमंड, कुटिलभाव।
ऐंठना – उमेठना, मरोड़ना, इतराना, अकड़ना, शेखी बघारना।
ऐंद्रिक – ऐंद्रिय, इन्द्रियगत, इंद्रिय विषयक, इंद्रियजनित, इंद्रियजन्य।
ऐच्छिक – स्वैच्छिक, वैकल्पिक, इच्छानुसारी।
ऐयाश – कामी, कामुक, भोगी, लम्पट, विलासी, विषयी, भोगनिरत, विषयासक्त, कामाचारी, व्यभिचारी।
ऐयाशी – काम, कामचरिता, विलासता, भोग, विषयासक्ति, इंद्रियलोलुपता।
ऐश – सुख, चैन, आराम, ऐयाशी, विलास, भोग-विलास, व्याभिचार।

( ओ )

ओज – तेज, शक्ति, बल, चमक, कांति, दीप्ति, वीर्य।
ओजस्वी – बलवान, बलशाली, बलिष्ठ, पराक्रमी, जोरावर, ताकतवर, शक्तिशाली, शक्तिमान, जोरदार, सशक्त, सबल, वीर्यवान, कांतिवान, दीप्तिमान, तेजस्वी।
ओंठ – ओष्ठ, अधर, लब, रदनच्छद, होठ।
ओला – हिमगुलिका, उपल, करका, बिनौरी, तुहिन, जलमूर्तिका, हिमोपल।
ओस – नीहार, तुषार, तुहिन, निशाजल, शीत, शबनम, कण।
ओहार – आवरण, परदा, आच्छादन।
ओंकार – प्रणव, बीज-मंत्र, वेदमाता, ओउम।
ओखली – उलूखल, ऊखल।
ओछा – अधम, नीच, तुच्छ, कमीना, क्षुद्र, छिछोरा, नगण्य, बुरा, खोटा, छिछला, उथला, घटिया, हलका।
ओझल – अदृश्य, अंतर्धान, तिरोहित, लुप्त, छिपा हुआ, गायब, विलुप्त।
ओझाई – अभिचार, पिशाचविद्या, श्मशानतंत्र, इंद्रजाल, मन्त्र, जादू, टोना।
ओट – आड़, परदा, छिपाव, दुराव।
ओढ़ना – पहनना, धारण करना, लपेटना, ढकना।
ओर – दिशा, तरफ, पक्ष, किनारा, छोर, सिरा, अन्त।

( औ )

औचक – अचानक, यकायक, सहसा।
औरत – स्त्री, जोरू, घरनी, महिला, मानवी, तिरिया, नारी, वनिता, घरवाली।
औचित्य – उपयुक्तता, तर्कसंगति, तर्कसंगतता।
औलाद – संतान, संतति, आसऔलाद, बाल-बच्चे।
औषधालय – चिकित्सालय, दवाखाना, अस्पताल, हस्पताल, चिकित्सा भवन, शफाखाना।
औजार – उपकरण, यंत्र, हथियार।
और – दूसरा, भिन्न, अन्य, पराया, अधिक ज्यादा, एवं तथा व, के साथ, के अतिरिक्त, के साथ-साथ।

( क )

कमला – लक्ष्मी, महालक्ष्मी, श्री, हरप्रिया।
कर्ज – उधार, ऋण, कर्जा, उधारी, कुसीद।
कलानाथ – चंद्रमा, कलाधर, सुधाकर, सोम, सुधांशु, हिमांशु, तारापति।
कल्याण – भलाई, परहित, उपकार, भला।
कष्ट – तकलीफ, पीड़ा, वेदना, दुःख।
काग – कौआ, कागा, काक, वायस।
कातिल – खूनी, हत्यारा, घातक।
कामधेनु – सुरभि, सुरसुरभि, सुरधेनु।
कायर – कापुरुष, डरपोक, बुजदिल।
काल – समय, वक्त, वेला।
कालकूट – जहर, विष, गरल, हलाहल।
काला – श्याम, कृष्ण, कलूटा, साँवला, स्याह।
किनारा – तट, तीर, कगार, कूल, साहिल।
किरण – किरन, अंशु, रश्मि, मयूख।
किरीट – ताज, मुकुट, शिरोभूषण।
किश्ती – कश्ती, नाव, नौका, नैया।
कीर – तोता, सुग्गा, सुआ, शुक।
कुंभ – घड़ा, गागर, घट, कलश।
कुसुम – पुष्प, फूल, प्रसून, पुहुप।
कृश – दुबला, क्षीणकाय, कमजोर, दुर्बल, कृशकाय।
कृषि – किसानी, खेतीबाड़ी, काश्तकारी।
केतन – ध्वज, झंडा, पताका, परचम।
केवट – मल्लाह, माँझी, खेवैया, नाविक।
केसरी – शेर, सिंह, नाहर, वनराज, मृगराज, मृगेंद्र।
कोकिल – कोकिला
कान – कर्ण, श्रुति, श्रुतिपटल, श्रवण, श्रोत, श्रुतिपुट।
कोयल – कोकिला, पिक, काकपाली, बसंतदूत, सारिका, कुहुकिनी, वनप्रिया।
क्रोध – रोष, कोप, अमर्ष, गुस्सा, आक्रोश, कोह, प्रतिघात।
कार्तिकेय – कुमार, षडानन, शरभव, स्कन्द।
कुत्ता – श्वा, श्रवान, कुक्कुर। शुनक, सरमेव।
कल्पद्रुम – देवद्रुम, कल्पवृक्ष, पारिजात, मन्दार, हरिचन्दन।
काक – कौआ, वायस, काग, करठ, पिशुन।
कंगाल – निर्धन, गरीब, रंक, धनहीन।
कंचन – स्वर्ण, सोना, कनक, कुंदन, हिरण्य।
कंजूस – कृपण, सूम, मक्खीचूस।
कंटक – काँटा, खार, सूल।
कंदरा – गुफा, खोह, विवर, गुहा।
कछुआ – कच्छप, कमठ, कूर्म।
कटक – फौज, सेना, पलटन, लश्कर, चतुरंगिणी।
कद्र – मान, सम्मान, इज्जत, प्रतिष्ठा।
कमजोर – निर्बल, बलहीन, दुर्बल, मरियल, शक्तिहीन।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here