उत्तर प्रदेश जनसुनवाई – UP Jansunwai Portal, App, Complaint Status @jansunwai.up.nic.in

Check IGRS UP status | Samadhan/Jansunwai complain filling @ jansunwai.up.nic.in| IGRS Jansunwai app | UP IGRS उत्तर प्रदेश जनसुनवाई शिकायत दर्ज ऑनलाइन

IGRS UP की स्थिति 2020: एकीकृत शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश मूल रूप से उत्तर प्रदेश राज्य के नागरिकों की शिकायतों के निवारण के लिए एकीकृत प्रणाली है। इस सेवा के माध्यम से, लोग शिकायत दर्ज कर सकते हैं, अपनी IGRS स्थिति को ट्रैक कर सकते हैं, सरकार को प्रतिक्रिया दे सकते हैं। जनसुनवाई यूपी स्थिति @ jansunwai.up.nic.in नीचे दी गई प्रक्रिया के माध्यम से देखी जा सकती है।

UP Jansunwai Portal – उत्तर प्रदेश जनसुनवाई

इसे 2016 में तत्कालीन मुख्यमंत्री द्वारा लॉन्च किया गया था। यह एक ऑनलाइन प्रणाली है जो पारदर्शिता की सुविधा प्रदान करती है और राज्य के नागरिकों के प्रति सरकारी विभागों की जवाबदेही सुनिश्चित करती है। IGRS UP शिकायत और ट्रैक की स्थिति: इस पोर्टल के माध्यम से, जनता किसी भी सरकारी विभाग से संबंधित अपनी शिकायतों और शिकायतों को इस ऑनलाइन ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से आसानी से दर्ज कर सकती है। इस एकीकृत प्रणाली को जनसुनवाई पोर्टल के रूप में जाना जाता है। लोग किसी भी समय और किसी भी स्थान से अपनी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं। उन्हें अपनी शिकायतों को उठाने और शिकायतें दर्ज करने के लिए विभिन्न सरकारी विभागों और कार्यालयों का दौरा करने की आवश्यकता नहीं है।

PDF को Download करने के लिए नीचे बटन पर Click करें। ताकि Download Button पर क्लिक करने के बाद आप PDF को Phone में Download कर पाएँ

jansunwai

IGRS UP राज्य के सार्वजनिक और विभागीय अधिकारियों को एक उपयोगकर्ता के अनुकूल इंटरफेस प्रदान करता है। वे अपनी सुविधा के अनुसार अंग्रेजी या हिंदी दोनों भाषाओं में पोर्टल का उपयोग कर सकते हैं।

जनसुनवाई पोर्टल उत्तर प्रदेश – ऑनलाइन शिकायत पंजीकरण ( Register Complaint) @jansunwai.up.nic.in

नीचे दिए गए आसान चरणों का पालन करके नागरिक IGRS पोर्टल पर अपनी शिकायतें दर्ज कर सकते हैं-

स्टेप 1- लोगों को यूपी IGRS की आधिकारिक वेबसाइट यानी http://jansunwai.up.nic.in पर जाना होगा। वेबसाइट खोलने पर, होमपेज दिखाई देगा।

स्टेप 2- होमपेज पर “रजिस्टर शिकायत” लिंक पर क्लिक करें।

स्टेप 3- अब एक अस्वीकरण बॉक्स ऑनलाइन नागरिकों के लिए दिखाई देगा। उन्हें इस पर उल्लिखित सभी बिंदुओं को पढ़ना होगा कि वे शिकायत के रूप में पंजीकृत नहीं हो सकते हैं। इसके बाद उन्हें “सबमिट” बटन पर क्लिक करना होगा।

स्टेप 4- एक पंजीकरण फॉर्म स्क्रीन पर प्रदर्शित किया जाएगा। ऑनलाइन नागरिकों को अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा। या ईमेल आईडी और कैप्चा कोड दर्ज करने के बाद “सबमिट और जेनरेट ओटीपी” विकल्प पर क्लिक करना होगा। विवरण जमा करने के बाद, एक वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) प्रदान किए गए मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। या ईमेल। उन्हें प्रदान की गई जगह पर ओटीपी दर्ज करना होगा।

स्टेप 5- अब शिकायत फॉर्म दिखाई देगा। आवेदकों को अधिकारियों के विवरण, आवेदक का विवरण, शिकायत, आवासीय / पत्राचार का पता और आवेदन विवरण भरना है।

यदि आवेदक को पहले कोई आवेदन भरना होता है, तो उन्हें संबंधित सभी विवरण “एप्लिकेशन विवरण” अनुभाग में अपलोड करने होंगे। अन्त में उन्हें “संदर्भ सुरक्षित” विकल्प पर क्लिक करना होगा।

आवेदन जमा करने के बाद, एक संदर्भ संख्या / शिकायत संख्या। आवेदकों को उनके पंजीकृत मोबाइल या ईमेल नंबर पर भेजा जाएगा। वे इसका उपयोग नहीं कर सकते हैं। आगे इस तरह के संदर्भों के लिए शिकायत की स्थिति पर नज़र रखना।

UP Jansunwai Portal Complaint Status – शिकायत की स्थिति जानें

एक बार आवेदकों ने शिकायत / शिकायत दर्ज कर ली है, तो वे संदर्भ संख्या का उपयोग करके शिकायत की स्थिति को ऑनलाइन ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें दिए गए चरणों का पालन करना होगा-

  • Http://jansunwai.up.nic.in पर जाएं।
  • “ट्रैक शिकायत” विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आवेदकों को सभी आवश्यक विवरण दर्ज करना होगा। इनमें शिकायत संख्या, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी और अन्य विवरण शामिल हैं। वे “सबमिट” बटन हिट करने के बाद।
  • आवेदक “सबमिट” विकल्प पर क्लिक करने के बाद आवेदन की स्थिति प्रदर्शित करेगा।

शिकायत पर कार्यवाही नहीं होने पर क्या करें

यदि किसी आवेदक को लगता है कि उनके आवेदन या शिकायत पर विचार नहीं किया गया है और उन्हें उनकी शिकायतों के संबंध में सूचना नहीं मिली है, तो वे उसी IGRS पोर्टल के माध्यम से अधिकारी को एक अनुस्मारक भेज सकते हैं।

अनुस्मारक भेजने के लिए वे नीचे दी गई चरण प्रक्रिया द्वारा चरण की जांच कर सकते हैं-

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • होमपेज पर “सेंड रिमाइंडर” लिंक खोलें।
  • अब उन्हें संदर्भ संख्या दर्ज करना होगा और खोज विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अनुस्मारक भेजा जाएगा और आवेदकों को संबंधित प्राधिकारी से संबंधित उत्तर प्राप्त होगा।

UP Jansunwai App | जनसुनवाई  मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

ऑनलाइन पोर्टल के साथ, यूपी सरकार नागरिकों को अपनी शिकायतें दर्ज करने के लिए एक अन्य मंच भी प्रदान करती है। नागरिक समधन यानी यूपी आईजीआरएस के मोबाइल एप्लीकेशन पर भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

Androids आवेदन नागरिकों और अधिकारियों दोनों के लिए है। मोबाइल ऐप का उद्देश्य राज्य में मोबाइल गवर्नेंस को प्राप्त करना है। इस ऐप के माध्यम से, नागरिक अपने मोबाइल पर अपनी शिकायतें भेज सकते हैं और आधिकारिक पोर्टल पर आए बिना स्थिति को ट्रैक कर सकते हैं। इसी तरह, इस मोबाइल एप्लिकेशन की मदद से विभागीय अधिकारी उन्हें भेजी गई शिकायतों की भी जांच कर सकते हैं।

  • Officers- विभागीय अधिकारी दिए गए लिंक का पालन करके जनसुनवाई मोबाइल एप्लिकेशन को भी डाउनलोड कर सकते हैं-

https://play.google.com/store/apps/details?id=in.nic.up.jansunwai.igrsofficials&hl.en

जनसुनवाई से जुड़े महत्वपूर्ण बिंदु

यूपी के नागरिक इस ऑनलाइन सेवा के कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं और विशेषताओं पर भी नजर रख सकते हैं। ये महत्वपूर्ण बिंदु नीचे दिए गए हैं-

  • यह नागरिकों और सरकार के बीच एक आसान और पारदर्शी इंटरफ़ेस है।
  • शिकायत के पंजीकरण, ट्रैकिंग, अनुस्मारक या प्रतिक्रिया भेजने के बाद आवेदकों को एक एसएमएस सेवा अधिसूचना मिलेगी।
  • सभी संबंधित अधिकारियों के लिए यह अनिवार्य है कि वे शिकायत के निपटान की कार्रवाई के बाद पोर्टल पर निपटान रिपोर्ट को अपडेट करें।
  •  हर संबंधित विभाग के कार्यालय में एक नोडल अधिकारी होगा जो ऑनलाइन पोर्टल को संभालता है।

जरुरी लिंक्स



जनसुनवाई से सम्बंधित पूछे जाने वाले प्रश्न और उनके उत्तर

IGRS UP सिस्टम कब शुरू किया गया था?

इसे वर्ष 2016 में शुरू किया गया था। शुरुआत में, इसे जिला स्तर पर शुरू किया गया था और फिर इसे अन्य स्तरों पर लागू किया गया था।

UP IGRS / जनसुनवाई क्या है?

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के नागरिकों को “जनसुनवाई” सुविधा का लाभ दिया जा रहा है | यह ऐसी सर्विस है जिसके माध्यम से आप अपनी कोई भी शिकायत ऑनलाइन ही दर्ज कर सकते हैं | साथ ही साथ अन्य सुविधाएं जैसे शिकायत की स्तिथि इत्यादि आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध हैं

एक संदर्भ संख्या क्या है?

एक संदर्भ सं। अद्वितीय चौदह अंक है। ऑनलाइन प्रणाली द्वारा आवेदकों को जारी किया गया। यह एक महत्वपूर्ण नहीं है। और नागरिकों को इसे सुरक्षित रखना आवश्यक है।

सभी संदर्भों को प्रिंट करना आवश्यक है?

नहीं

नागरिक अधीनस्थ कार्यालय से सूचना कैसे प्राप्त करेंगे?

जानकारी केवल ऑनलाइन मोड के माध्यम से प्राप्त की जाएगी। अधीनस्थ कार्यालय से कोई हार्ड कॉपी नहीं भेजी जाएगी।

समस्या के समाधान के लिए किससे संपर्क किया जाए?

विवरण [email protected] और [email protected] पर भेजे जा सकते हैं । ईमेल में संपर्क फ़ॉर्म, कार्यालय / संपर्क नाम निर्दिष्ट करना अनिवार्य है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here