पानी बचाओ पर निबंध – Essay on Save water in Hindi

Essay on Save Water in Hindi: दोस्तो आज हमने पानी बचाओ पर निबंध अथवा जल संरक्षण पर निबंध कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 ,10, 11, 12 के विद्यार्थियों के लिए लिखा है।

Essay on Save water in Hindi, पानी बचाओ पर निबंध: – पानी मानवता के लिए भगवान का एक उपहार है। वर्तमान में प्रयोग करने योग्य पानी की कमी दुनिया भर में चिंता का विषय बन गई है। इसके साथ ही पानी बचाने पर लेख या पानी बचाने पर निबंध विभिन्न बोर्ड और प्रतियोगी परीक्षाओं में एक सामान्य प्रश्न बन गया है।

50 शब्दों में पानी बचाओ पर निबंध (Save Water Essay 1)

हमारा ग्रह पृथ्वी इस ब्रह्मांड का एकमात्र ग्रह है जहाँ जीवन संभव है। यह संभव हो गया है क्योंकि 8 ग्रहों में से केवल पृथ्वी पर ही पानी उपलब्ध है। पानी के बिना जीवन की कभी कल्पना भी नहीं की जा सकती है। पृथ्वी की सतह का लगभग 71% हिस्सा पानी है। लेकिन पृथ्वी की सतह पर केवल थोड़ी मात्रा में शुद्ध पेयजल मौजूद है। इसलिए पानी की बचत की आवश्यकता है।

PDF को Download करने के लिए नीचे बटन पर Click करें। ताकि Download Button पर क्लिक करने के बाद आप PDF को Phone में Download कर पाएँ

100 शब्दों में पानी बचाने पर निबंध  (Save Water Essay 2)

पृथ्वी को “नीला ग्रह” कहा जाता है क्योंकि यह ब्रह्मांड का एकमात्र ज्ञात ग्रह है जहां पर्याप्त मात्रा में पानी मौजूद है। पृथ्वी पर जीवन पानी की उपस्थिति के कारण ही संभव है। हालाँकि पानी की एक बड़ी मात्रा पृथ्वी के सतह स्तर पर पाई जा सकती है, लेकिन पृथ्वी पर बहुत कम मात्रा में स्वच्छ पानी उपलब्ध है। इसलिए पानी बचाना बहुत जरूरी हो गया है। यह कहा जाता है कि “पानी बचाओ जीवन बचाओ”। यह स्पष्ट रूप से इंगित करता है कि पानी के बिना इस धरती पर जीवन एक दिन भी संभव नहीं होगा। तो, यह निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि पानी की बर्बादी को रोकने की जरूरत है और हमें इस धरती पर पानी बचाने की जरूरत है।


150 शब्दों में पानी बचाओ पर निबंध  (Save Water Essay 3)

मानवता के लिए भगवान का सबसे कीमती उपहार पानी है। पानी को ‘जीवन’ भी कहा जा सकता है क्योंकि पानी की मौजूदगी के बिना इस धरती पर जीवन की कभी कल्पना भी नहीं की जा सकती है। पृथ्वी का सतह स्तर का लगभग 71 प्रतिशत पानी है। इस पृथ्वी का अधिकांश पानी समुद्रों और महासागरों में पाया जाता है। पानी में नमक की अधिकता के कारण उन पानी का उपयोग नहीं किया जा सकता है। पृथ्वी पर पीने योग्य पानी का प्रतिशत बहुत कम है। इस ग्लोब के कुछ हिस्सों में, लोगों को शुद्ध पीने योग्य पानी इकट्ठा करने के लिए लंबी दूरी तय करनी पड़ती है। लेकिन इस ग्रह के अन्य हिस्सों में लोग पानी के मूल्य को नहीं समझते हैं। इस ग्रह पर पानी की बर्बादी एक ज्वलंत मुद्दा बन गया है। पानी की एक बड़ी मात्रा मानव द्वारा नियमित रूप से बर्बाद की जाती है। हमें आसन्न खतरे से बचने के लिए पानी की बर्बादी को रोकने या पानी की बर्बादी को रोकने की जरूरत है।

SAVE water essay in Hindi


200 शब्दों में पानी बचाओ पर निबंध  (Save Water Essay 4)

पानी, जिसे वैज्ञानिक रूप से H2O के रूप में जाना जाता है, इस पृथ्वी की प्राथमिक ज़रूरतों में से एक है। इस पृथ्वी पर जीवन केवल पानी की मौजूदगी के कारण ही संभव हो पाया है और इस प्रकार कहा जाता है कि “पानी बचाओ जीवन बचाओ”। केवल मनुष्य ही नहीं बल्कि अन्य सभी जानवरों और पौधों को इस पृथ्वी में जीवित रहने के लिए पानी की आवश्यकता होती है। हम, इंसान को जीवन के हर पड़ाव में पानी की जरूरत होती है। सुबह से शाम तक हमें पानी की जरूरत होती है। फसलों की खेती करने, बिजली का उत्पादन करने, हमारे कपड़े और बर्तन धोने, अन्य औद्योगिक और वैज्ञानिक कार्यों और चिकित्सा उपयोग आदि के लिए मानव को पानी की आवश्यकता को छोड़कर।

लेकिन पृथ्वी पर पीने के पानी का प्रतिशत बहुत कम है। हमारे भविष्य के लिए पानी बचाने का समय आ गया है। हमारे देश में और इस पृथ्वी के कुछ हिस्सों में लोग शुद्ध पेयजल की कमी का सामना कर रहे हैं। कुछ लोग अभी भी सरकार द्वारा प्रदान की गई पानी की आपूर्ति पर निर्भर हैं या विभिन्न प्राकृतिक स्रोतों से शुद्ध पेयजल इकट्ठा करने के लिए लंबी दूरी तय करनी पड़ती है। शुद्ध पेयजल की कमी जीवन के लिए एक वास्तविक चुनौती है। इसलिए पानी की बर्बादी को रोकने की जरूरत है या हमें पानी बचाने की जरूरत है। यह उचित प्रबंधन के माध्यम से किया जा सकता है। ऐसा करने के लिए, हम जल प्रदूषण को भी रोक सकते हैं ताकि पानी भी ताजा, स्वच्छ और उपयोगी बना रह सके।


250 शब्दों में पानी बचाओ पर निबंध  (Save Water Essay 5)

जल सभी जीवित जीवों की प्राथमिक आवश्यकता है। सभी ग्रहों में से, अब तक, मनुष्यों ने केवल पृथ्वी पर पानी की खोज की है और इसलिए पृथ्वी में केवल जीवन संभव है। मनुष्य और अन्य सभी जानवर पानी के बिना एक दिन भी जीवित नहीं रह सकते। पौधों को बढ़ने और जीवित रहने के लिए भी पानी की आवश्यकता होती है। मानव विभिन्न गतिविधियों में पानी का उपयोग करता है। पानी का उपयोग हमारे कपड़ों और बर्तनों को साफ करने, धोने, फसलों की खेती करने, बिजली का उत्पादन करने, खाद्य पदार्थों को पकाने, बागवानी और अन्य गतिविधियों में किया जाता है। हम जानते हैं कि पृथ्वी का लगभग तीन-चौथाई हिस्सा पानी है। लेकिन यह सभी पानी उपयोग के लिए उपयुक्त नहीं है। उन पानी का केवल 2% उपयोग करने योग्य है। इसलिए पानी को बचाना बहुत आवश्यक है। पानी की बर्बादी को नियंत्रित करने की जरूरत है। हमें जल अपव्यय तथ्यों की पहचान करनी चाहिए और यथासंभव जल को बचाने का प्रयास करना चाहिए। पर्याप्त शुद्ध पेयजल की वैश्विक कमी के कुछ हिस्सों में जीवित रहने के लिए एक खतरनाक खतरा है जबकि कुछ अन्य भागों में प्रचुर मात्रा में पानी उपलब्ध है। जो लोग उन क्षेत्रों में रहते हैं, जहाँ पानी की प्रचुर मात्रा उपलब्ध है, उन्हें पानी के मूल्य को समझना चाहिए और इस प्रकार पानी की बचत करनी चाहिए। देश के कुछ हिस्सों और दुनिया भर में लोग पानी की कमी के लिए वर्षा जल संचयन की कोशिश करते हैं। लोगों को पानी के महत्व को समझना चाहिए और इस तरह पानी की बर्बादी को नियंत्रित करना चाहिए। देश के कुछ हिस्सों और दुनिया भर में लोग पानी की कमी के लिए वर्षा जल संचयन की कोशिश करते हैं। लोगों को पानी के महत्व को समझना चाहिए और इस तरह पानी की बर्बादी को नियंत्रित करना चाहिए। देश के कुछ हिस्सों और दुनिया भर में लोग पानी की कमी के लिए वर्षा जल संचयन की कोशिश करते हैं। लोगों को पानी के महत्व को समझना चाहिए और इस तरह पानी की बर्बादी को नियंत्रित करना चाहिए।


300 शब्दों में पानी बचाने पर निबंध  (Save Water Essay 6)

पानी हमारे लिए एक अनमोल चीज है। हम पानी के बिना पृथ्वी पर अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते। पृथ्वी की सतह का तीन-चौथाई हिस्सा पानी से ढंका है। अभी भी इस धरती पर बहुत से लोग पानी की कमी का सामना कर रहे हैं। यह हमें पृथ्वी पर पानी बचाने की आवश्यकता सिखाता है। इस धरती पर मानव जाति के लिए पानी सबसे प्राथमिक जरूरतों में से एक है। हमें हर एक दिन पानी चाहिए। हम न केवल अपनी प्यास बुझाने के लिए पानी का उपयोग करते हैं, बल्कि विभिन्न गतिविधियों जैसे बिजली का उत्पादन, अपना भोजन पकाना, अपने आप को और अपने कपड़े और बर्तन आदि का उपयोग करते हैं। किसानों को फसलों की खेती के लिए पानी की आवश्यकता होती है। मनुष्य की तरह पौधों को भी जीवित रहने और बढ़ने के लिए फसलों की आवश्यकता होती है। इस प्रकार यह बहुत स्पष्ट है कि हम पानी का उपयोग किए बिना पृथ्वी पर एक भी दिन की कल्पना नहीं करते हैं।

हालाँकि पृथ्वी पर पर्याप्त मात्रा में पानी मौजूद है, लेकिन पृथ्वी पर पीने योग्य पानी का प्रतिशत बहुत कम है। इसलिए हमें पानी को प्रदूषित होने से बचाना होगा। हमें सीखना चाहिए कि दैनिक जीवन में पानी की बचत कैसे करें। हमारे घरों में, हम पानी को बर्बाद होने से बचा सकते हैं। हम बाथरूम में शॉवर का उपयोग कर सकते हैं क्योंकि स्नान स्नान एक सामान्य स्नान की तुलना में कम पानी लेता है। फिर कभी-कभी हम अपने घरों में नल और पाइप के मामूली रिसाव पर भी ध्यान नहीं देते हैं। लेकिन उन लीकेज के कारण पानी की भारी मात्रा रोजाना बर्बाद हो रही है। दूसरी ओर, हम वर्षा जल संचयन के बारे में सोच सकते हैं। वर्षा के पानी का इस्तेमाल नहाने, हमारे कपड़े और बर्तन आदि धोने के लिए किया जा सकता है। हमारे देश के कई हिस्सों और कई अन्य देशों में, लोगों को हाथ पर पीने के पानी का पर्याप्त प्रतिशत नहीं मिल रहा है। लेकिन हम नियमित रूप से पानी बर्बाद कर रहे हैं। निकट भविष्य में यह चिंता का विषय बन जाएगा। इस प्रकार हमें अपने भविष्य के लिए पानी बचाने की कोशिश करनी चाहिए।


350 शब्दों में पानी बचाओ पर निबंध  (Save Water Essay 7)

इस धरती पर भगवान की ओर से हमारे लिए सबसे कीमती उपहार है। हमारे पास पृथ्वी पर पानी की प्रचुरता है, लेकिन पृथ्वी पर पीने योग्य पानी का प्रतिशत बहुत कम है। पृथ्वी की सतह का लगभग 71% हिस्सा पानी से ढका हुआ है। लेकिन उनमें से केवल 0.3% पानी ही उपयोग योग्य है। इस प्रकार पृथ्वी पर पानी को बचाने की आवश्यकता है। पृथ्वी पर प्रयोग करने योग्य पानी की उपस्थिति के कारण पृथ्वी पर ऑक्सीजन जीवन मौजूद है। इसलिए पानी को ‘जीवन’ के रूप में भी जाना जाता है। पृथ्वी पर, हमें समुद्रों, महासागरों, नदियों, झीलों, तालाबों आदि में हर जगह पानी मिलता है, लेकिन हमें शुद्ध या रोगाणु मुक्त पानी का उपयोग करने की आवश्यकता होती है।

पानी के बिना इस ग्रह पर जीवन असंभव है। हम अपनी प्यास बुझाने के लिए पानी पीते हैं। पौधे इसे विकसित करने के लिए उपयोग करते हैं, जानवर भी पृथ्वी पर जीवित रहने के लिए पानी पीते हैं। हम, मानव को अपने दैनिक कार्यों में सुबह से रात तक पानी की आवश्यकता होती है। हम नहाने के लिए पानी का उपयोग करते हैं, अपने कपड़े साफ करते हैं, अपने भोजन पकाते हैं, बागवानी करते हैं, फसलें उगाते हैं और कई अन्य गतिविधियाँ करते हैं। इसके अलावा, हम पनबिजली पैदा करने के लिए पानी का उपयोग करते हैं। पानी का उपयोग विभिन्न उद्योगों में भी किया जाता है। सभी मशीन को ठंडा रहने और ठीक से काम करने के लिए पानी की आवश्यकता होती है। यहां तक ​​कि जंगली जानवर अपनी प्यास बुझाने के लिए वाटरहोल की तलाश में जंगल में घूमते हैं। इसलिए इस नीले ग्रह पर हमारे अस्तित्व के लिए पानी की बचत की आवश्यकता है। लेकिन दुर्भाग्य से लोग इसे नजरअंदाज करते हुए नजर आते हैं। हमारे देश के कुछ हिस्सों में उपयोग योग्य पानी प्राप्त करना अभी भी एक चुनौतीपूर्ण कार्य है। लेकिन कुछ अन्य हिस्सों में जहां पानी उपलब्ध है, लोगों को पानी को इस तरह बर्बाद करते देखा जाता है कि निकट भविष्य में वे उसी चुनौती का सामना करेंगे। इस प्रकार हमें अपने दिमाग को यह कहते हुए रखना चाहिए कि ‘पानी बचाओ जीवन बचाओ’ और पानी बर्बाद न करने का प्रयास करना चाहिए।

पानी को कई तरीकों से बचाया जा सकता है। पानी के संरक्षण के 100 तरीके हैं। जल संरक्षण का सबसे सरल तरीका वर्षा जल संचयन है। हम वर्षा जल को संरक्षित कर सकते हैं और उन पानी का उपयोग हमारी दैनिक गतिविधियों में किया जा सकता है। शुद्धिकरण के बाद पीने के लिए भी वर्षा जल का उपयोग किया जा सकता है। हमें पता होना चाहिए कि अपने दैनिक जीवन में पानी की बचत कैसे करें ताकि निकट भविष्य में हमें पानी की कमी का सामना न करना पड़े।


Essay on Save Water in Hindi
पानी बचाने पर 500+ शब्द निबंध


पानी बचाने पर इस निबंध में, हम पानी की समस्या पर चर्चा करने जा रहे हैं और हम पानी कैसे बचा सकते हैं और इसके अपव्यय से बच सकते हैं। साथ ही, पानी की बचत प्रत्येक व्यक्ति की एक सार्वभौमिक जिम्मेदारी है जो इस धरती पर रहता है। पानी को बचाने के लिए, हमें विभिन्न साधनों को अपनाना होगा जो पृथ्वी पर ताजे पानी के स्तर को बनाए रखने में मदद कर सकते हैं। चूंकि मीठे पानी की पहुंच जल संरक्षण में कमी है और भविष्य की पीढ़ियों के लिए पानी बचाने के लिए बचत की पहल बढ़ रही है।

मीठे पानी की कमी का कारण

पहला कारण मीठे पानी का बहुत अधिक अपव्यय और दैनिक उपयोग पर पानी का लापरवाह उपयोग हो सकता है। दूसरा उद्योगों से होने वाला प्रदूषण हो सकता है जो नदियों और झीलों में दैनिक पानी जोड़ता है । तीसरा कारण कीटनाशक हो सकते हैं और रासायनिक उर्वरक भी मीठे पानी को प्रदूषित कर रहे हैं। इसके अलावा, पानी को प्रदूषित करने वाली नदियों में सीवेज का कचरा भी डाला जाता है।

पानी की कमी से बचाव

ऐसे कई तरीके हैं जिनसे हम पानी बचा सकते हैं और उनके प्रदूषण को कम कर सकते हैं। इसके अलावा, इन तरीकों में नदियों में डंप करने से पहले औद्योगिक जल का उचित उपचार शामिल है। इसके अलावा, केवल पानी की आवश्यक मात्रा का उपयोग करना और अपव्यय से बचना। इसके अलावा, हम सामाजिक अभियानों और अन्य तरीकों से लोगों को पानी की समस्या के बारे में जागरूक कर सकते हैं।

पानी बचाने के तरीके और तरीके

पानी में पृथ्वी की सतह का 70% हिस्सा है लेकिन पीने और अन्य उपयोगों के लिए मीठे पानी में लगभग 2.5% ही है। इसके अलावा, यह पानी को उन दुर्लभ संसाधनों में से एक बनाता है जो पूरी मानव जाति खा जाती है। इसके अलावा, अगर हम नहाने, कपड़े धोने, पौधों को पानी देने आदि जैसी विभिन्न गतिविधियों के लिए रोजाना इस्तेमाल किए जाने वाले पानी की मात्रा को कम करते हैं, तो हम वास्तव में अपनी आने वाली पीढ़ियों के लिए पानी बचाने में सक्षम हो सकते हैं। इसके अलावा, नीचे हमने विभिन्न सुझावों को सूचीबद्ध किया है जो पानी बचा सकते हैं।

  • पानी को रोजाना बचाना आपकी व्यक्तिगत जिम्मेदारी है।
  • अपने छतों पर नहरें स्थापित करें ताकि घरेलू उद्देश्यों के लिए वर्षा जल का पुन: उपयोग किया जा सके या भूजल को रिचार्ज किया जा सके ।
  • कपड़े धोते समय अपनी वॉशिंग मशीन की पूरी क्षमता का उपयोग करें।
  • वाष्पीकरण को कम करने के लिए शाम को पौधों को पानी दें ।
  • शावर के बजाय बाल्टी का उपयोग करें क्योंकि यह बहुत सारा पानी बचाता है।
  • अपना चेहरा या हाथ धोते समय नल को चलने न दें।
  • अपने इलाके, स्कूल और पड़ोस में पानी की बचत के बारे में जागरूकता बढ़ाएँ।
  • कम उम्र से बच्चों को पानी की बचत के बारे में शिक्षित करें ताकि वे इसके मूल्य को समझ सकें।

आखिर हमने पानी बचाने के लिए अब तक जो किया है, वह पर्याप्त नहीं है। इसके अलावा, यह सबसे महत्वपूर्ण संसाधन है जो हमें मदर नेचर से प्राप्त हुआ है। इसके अलावा, यह पृथ्वी पर जीवन के अन्य रूपों जैसे पौधों, जानवरों और पक्षियों के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है। ताजे पानी की मात्रा केवल भूजल, नदियों और झीलों तक सीमित है। इसलिए, यह हमारा कर्तव्य बन जाता है कि हम अपने भविष्य के लिए इस अनमोल संसाधन को सुरक्षित रखें।

इसके अलावा, हमें जल प्रदूषण पर एक निगरानी रखने के लिए कार्य योजना की आवश्यकता है जो इसे उपयोग के लिए अयोग्य बना रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here